WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

उत्तराखंड सरकार : हरिद्वार महाकुंभ तय समय पर होगा

0 0
Read Time:2 Minute, 51 Second

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और अखाड़ा परिषद के संतों के मध्य रविवार को हुई बैठक में इस पर सहमति बनी की हरिद्वार में अगले साल कुंभ का आयोजन निर्धारित समय पर ही होगा। हालांकि, कुंभ का स्वरूप क्या होगा? किस स्तर तक होगा? इस संबंध में फरवरी 2021 में तत्कालीन परिस्थितियों के अनुसार फैसला लिया जाएगा। इसके साथ ही कुंभ के आयोजन को लेकर चल रही उथल पुथल भी खत्म हो गई है।

सरकार की मंशा हरिद्वार में दिव्य-भव्य महाकुंभ के आयोजन की थी और इसी हिसाब से तैयारियां चल रही थीं। कुंभ मेला क्षेत्र में साढ़े चार सौ करोड़ से अधिक लागत के स्थायी व अस्थायी प्रकृति के कार्य चल रहे हैं। इस बीच कोरोना संकट के चलते कुंभ के आयोजन पर भी संकट मंडराने लगा था। कांवड़ मेला टलने के बाद कुंभ को लेकर यह प्रश्न उठने लगा था कि यह आयोजन होगा या नहीं। अब इसे लेकर संशय दूर हो गया है।

रविवार को मुख्यमंत्री आवास में मुख्यमंत्री रावत ने अखाड़ा परिषद के संत महात्माओं के बीच महाकुंभ 2021 को लेकर अहम बैठक हुई। बैठक के बाद अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरिगिरी महाराज ने बताया कि इस बारे में सभी अखाड़ों के संतों के साथ चर्चा हो चुकी है। सभी ने इस बात पर अपनी सहमति जताई है कि ज्योतिष गणना के अनुसार कुंभ मेले का आयोजन निर्धारित समय पर ही हो। इसके स्वरूप आदि को लेकर फरवरी में तत्कालीन परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने संतों के सहयोग के लिए आभार जताया और कहा कि परंपराओं का ध्यान रखते हुए अगले वर्ष कुंभ का आयोजन समय पर होगा। फरवरी में तब की परिस्थितियों के अनुरूप संत-महात्माओं के मार्गदर्शन में मेले के स्वरूप के बारे में निर्धारण किया जाएगा। कुंभ मेले से संबंधित स्थायी प्रकृति के निर्माण कार्य चलते रहेंगे। बैठक में महंत नारायण गिरी महाराज, महंत महेश पुरी महाराज आदि मौजूद थे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

admin

Related Posts

Read also x