टिहरी : प्राकृतिक जलश्रोत करेगा इम्यूनिटी बूस्टर का काम – प्रशांत जोशी गंगाडी

0 0
Read Time:1 Minute, 35 Second

टिहरी : विकासखण्ड थौलधार के रहने वाले रिसर्च स्कॉलर प्रशांत जोशी गंगाडी ने पहाड़ी क्षेत्रों में  (प्राकृतिक जलश्रोतो) में बहने वाले जल का रिसर्च कर उसमें पाए जाने वाले माइक्रों मिनरल्स के बारे में सर्च किया, जिसमें उन्होने कहा है कि उत्तराखंड राज्य हिमालय की गोद में बसा हुआ क्षेत्र है जहाँ प्राकृतिक जलश्रोतो सबसे अधिक हैं। इन्हीं में से एक नौला और धारा भी है, जिसमें प्रचुर मात्रा में माइक्रो मिनरल्स और मैक्रो मिनरल्स पाए जाते हैं, इनका प्रयोग इम्यूनिटी बूस्टर में किया जाता है और यह प्राकृतिक है जिसका उपयोग डिटॉक्सिफिकेशन में भी किया जाता है।

वहीँ,  इस रिसर्च में यहाँ पर पता चला है इसमें सबसे ज्यादा इम्यून बूस्टर तत्व पाए गये हैं। जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं, वर्त्तमान में कोविड-19 देश में सबसे ज्यादा फैला हुआ है । जिसके चलते आयुष मंत्रालय द्वारा इम्यून सिस्टम पर जोर दिया गया है, जिसमें प्राकृतिक स्रोत नौला भी एक इम्यूनिटी सिस्टम का एक हिस्सा बन सकता है।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Read also x