गुलदार के हमले में बाल-बाल बची किशोरी

0 0
Read Time:2 Minute, 31 Second

उत्तराखंड में गुलदार का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। आए दिन गुलदार के हमले की खबर मिलती है। जी हाँ एक ऐसी की खबर पोखड़ा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम घंडियाल मल्ला में बुआ के घर आई एक किशोरी गुलदार के हमले में हुई बुरी तरह घायल। किशोरी का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पोखड़ा में इलाज करवाया गया। स्थानिया लोगों ने वन विभाग के अधिकारियों से गांव में पिजरा लगाए जाने की मांग की है।

बीरोंखाल ब्लॉक के ग्राम थापला निवासी कक्षा 10 की छात्रा अनामिका पुत्री जीत सिंह रावत दस दिन पूर्व पोखड़ा ब्लॉक के ग्राम घंडियाल मल्ला में बुआ के घर रहने आई थी। शुक्रवार की देर रात करीब 9:30 बजे बालिका घर में आंगन के पुश्ते पर बैठी थी, जबकि परिवार के लोग खाना बना रहे थे। इसी दौरान घात लगाए बैठे गुलदार ने लड़की पर अचानक से हमला बोल दिया और अनामिका आंगन में जा गिरी। घर के अन्य सदस्यों ने शोर मचा दिया, जिससे गुलदार मौके से भाग गया। परिजनों ने घायल अनामिका को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पोखड़ा पहुंचे, जहां इलाज के बाद उसे घर भेज दिया गया।

इधर, घटना की सूचना मिलने के बाद रेंज अधिकारी राखी जुयाल टीम समेत मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। डीएफओ संतराम ने बताया कि गुलदार पर नजर रखने के लिए वन कर्मियों की तैनाती की गई है। बताया कि जल्द ही गांव में पिजरा भी लगाया जाएगा। ग्रामीण अरविद सिंह ने बताया कि गांव में पिछले कई दिनों से एक मादा गुलदार अपने दो बच्चों के साथ घूम रही है। बताया कि ग्रामीणों की ओर से इस संबंध में वन विभाग को पूर्व में ही सूचित कर दिया गया था, लेकिन वन विभाग ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Read also x