चारधाम यात्रा के लिए सड़क पर दौडेगी रोडवेज की बसें, लेना होगा ऑनलाइन टिकट

0 0
Read Time:3 Minute, 47 Second

कोरोना वायरस महामारी के चलते उत्तराखंड के तीर्थयात्रियों के लिए 1 जुलाई से अपने स्वरूप में चारधाम यात्रा शुरू होने जा रही है। लेकिन दूसरे राज्यों से आने वाले श्रद्धालु अभी चारधाम के दर्शन नहीं कर पाएंगे। चारधाम यात्रा राज्य के भीतर ही संचालित की जाएगी। राज्य में भी कंटेनमेंट जोन के तहत आने वाले श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति नहीं मिलेगी। बता दें चारधाम यात्रा में इस बार रोडवेज बसों को उतारा जा रहा है। जल्द ही दौड़ेगी रोडवेज बसें भी चारधाम रूटों पर, कोरोना के चलते सीमित संख्या में और केवल उत्तराखंड के निवासियों के लिए एक जुलाई से शुरू की जा रही चारधाम यात्रा में सबसे बड़ी चुनौती परिवहन सेवा को लेकर थी।

दरअसल, बता दे निजी बस ऑपरेटर संचालन चारधाम यात्रा को तैयार नहीं हैं। ऐसे में सरकार ने रोडवेज बसों के संचालन को हरी झंडी दी है। शुरू में हर धाम के लिए हरिद्वार व ऋषिकेश से एक-एक बस संचालित होगी। यात्रियों की संख्या बढ़ने पर बसों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। इसके लिए ऑनलाइन टिकट लेना होगा।

चारधाम यात्रा में परिवहन व्यवस्था की तैयारियों को लेकर परिवहन निगम अभी से आंकलन में जुट गया है। रोडवेज की कुल 16 बसें पहले चरण में चारधाम को लेकर संचालित की जाएंगी। इनमें चार-चार बसों को हर रोज ऋषिकेश व हरिद्वार से चलाया जाएगा। बाकी चार-चार बसें चारों धाम से वापसी करेंगी। रोडवेज ने 25 मार्च से सूबे में बसों का संचालन शुरू किया है। पहले दिन भले यात्रियों की संख्या कम रही मगर धीरे-धीरे इनकी संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। सोमवार को 115 बसें यात्र पर रहीं और इनमें 5431 यात्रियों ने सफर तय किया। इससे रोडवेज को पांच लाख साठ हजार रुपये की आय हुई। ऐसे में चारधाम यात्र कराना रोडवेज की कमाई का बड़ा साधन बन सकता है। चारधाम के लिए भी जो बसें चलेंगी, उनमें यात्रियों को शारीरिक दूरी का पालन करना होगा।

1 जुलाई से शुरू रोडवेज की ऑनलाइन बुकिंग

उत्तराखंड में लंबी दूरी की यात्रा के लिए आपको रोडवेज बस अड्डे पहुंचकर टिकट लेने की जरूरत नहीं होगी। रोडवेज ने 1 जुलाई से ऑनलाइन टिकट बुकिंग सेवा को फिर शुरू करने का फैसला लिया है। सेवा गत 22 मार्च को कोरोना संक्रमण के चलते बंद कर दी गई थी। रोडवेज महाप्रबंधक ने बताया कि अभी केवल चारधाम यात्रा और लंबी दूरी की बसों में ही ऑनलाइन टिकट बुकिंग सेवा मिलेगी। दून, हरिद्वार से पौड़ी, उत्तरकाशी, जोशीमठ आदि के लिए, जबकि हल्द्वानी से पिथौरागढ़ व टनकपुर आदि के लिए ऑनलाइन टिकट मिल पाएंगे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Read also x