WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

उत्तराखंड में छिड़ी सियासी रार, नाराज हरक सिंह को कांग्रेस का ऑफर

उत्तराखंड में छिड़ी सियासी रार, नाराज हरक सिंह को कांग्रेस का ऑफर
0 0
Read Time:3 Minute, 55 Second

उत्तराखंड के वन एवं श्रम मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत की नाराजगी सत्ता के गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है। कुछ दिन पहले ही वन मंत्री ने आगामी वर्ष 2022 का विधानसभा चुनाव न लड़ने का ऐलान किया। डॉ. हरक सिंह रावत के इस बयान के बाद जो उत्तराखंड में सियासी रार छिड़ गई है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी जहां डॉ. हरक सिंह रावत को पार्टी में शामिल होने का ऑफर दे रही है तो वहीं हरक सिंह रावत की बीजेपी से नाराजगी अब सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी दिखने लगी है। हाल में हरक सिंह रावत देहरादून में अपने विभाग से जुड़े एक कार्यक्रम में भी शामिल नहीं हुए। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत तो आए थे, लेकिन डॉ. हरक सिंह रावत नदारद रहे।

वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री इंदिरा हृदयेश के बाद उपनेता सदन करन माहरा ने डॉ. हरक सिंह रावत को कांग्रेस में शामिल होने का ऑफर दिया है, लेकिन हरदा को ये आइडिया पंसद नहीं आ रहा है। कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने साफ संकेत दिए कि हरक की एंट्री को उनका समर्थन नहीं मिलेगा। वहीं डॉ. हरक सिंह रावत के आप ज्वाइन करने के कयास भी लग रहे हैं। हालांकि इसे लेकर आम आदमी पार्टी के नेताओं का अलग-अलग रुख है। डॉ. हरक सिंह रावत ने भी अपना स्टैंड क्लीयर नहीं किया है। वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का कहना है कि हरक सिंह रावत पार्टी के साथ खड़े रहेंगे। एक वक़्त पर कांग्रेस को बीच मंझधार में छोड़कर बीजेपी का हाथ थामने वाले डॉ. हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस के कई नेता नरम रुख अपनाए हुए हैं।

पहले डॉ. इंदिरा हृदयेश ने उन्हें कांग्रेस में शामिल होने का ऑफर दिया तो वहीं अब कांग्रेस विधायक दल के उपनेता करन माहरा ने भी दिल की बात बयां कर हरक सिंह को कांग्रेस में वापस आ जाने को कह दिया। डॉ. हरक सिंह रावत के चुनाव नहीं लड़ने के ऐलान के बाद सियासी हल्कों में कई चर्चाएं तैर रही हैं। माना जा रहा है कि वो नया ठौर चुन सकते हैं। हालांकि हरक सिंह रावत को कांग्रेस के इन्वीटेशन से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत नाराज हैं। उन्होंने साफ कह दिया है कि हरक सिंह रावत की कांग्रेस में दोबारा एंट्री को उनका समर्थन नहीं मिलेगा। वहीं हरक सिंह को लेकर आम आदमी पार्टी भी उलझी हुई है। आप के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र आनंद हरक के पार्टी में स्वागत की बात कह रहे थे, तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर हरक को पार्टी में लेने से इनकार कर रहे हैं। हरक सिंह रावत की मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से नाराजगी खुलकर सामने आ चुकी है, तो वहीं कहा जा रहा है कि विधायक उमेश शर्मा काऊ भी मुख्यमंत्री की कार्य प्रणाली से खुश नहीं हैं।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

Related Posts

Read also x