WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

इंदिरा हृदयेश ने दो दिन के लॉकडाउन का विरोध किया

0 0
Read Time:2 Minute, 58 Second

देहरादून : नेता प्रतिपक्ष डॉ0 इंदिरा हृदयेश ने उत्तराखंड के कई जिलों में दो दिवसीय बंद का विरोध किया है। शनिवार को जारी एक बयान में, उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में दो दिवसीय लॉकडाउन अन्य राज्यों की नकल में लागू किया जा रहा है। कुछ राज्यों ने फिर से कुछ दिनों का लॉकडाउन लागू किया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से गरीबों और छोटे व्यापारियों की आजीविका बुरी तरह से प्रभावित होनी तय है और लॉकडाउन इन पर काफी भारी रहने वाला है।  विशेष रूप से सड़कों पर फड़ लगाने वालों की रोजी रोटी पर हमला है। वे अपनी दैनिक आजीविका कमाने के लिए दैनिक बिक्री पर निर्भर रहते हैं। उन्होंने कहा कि फड़ विक्रेताओं सहित गरीब और छोटे व्यापारी पहले से ही कोरोना के नेतृत्व वाले लॉकडाउन से बुरी तरह प्रभावित हैं और आर्थिक रूप से बहुत बड़े संकट से गुजर रहे हैं। अब दो दिन का लॉकडाउन निश्चित रूप से उनके लिए आर्थिक रूप से और भी तनावपूर्ण रहेगा।

हृदयेश ने दावा किया कि लॉकडाउन राज्य में कोरोना मामलों की बढ़ती संख्या का समाधान नहीं है। सरकार को कोरोना की टैस्टिंग की संख्या को बढ़ाने और महामारी से निपटने के लिए चिकित्सा के बुनियादी ढाँचे और मानव संसाधनों को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए, न कि केवल लॉकडाउन लागू करने में।

वहीं, नैनीताल में व्यापारियों ने भी नैनीताल जैसे पर्यटन स्थलों में दो दिनों के वीकेंड (सप्ताहंत) के लॉकडाउन का विरोध किया है। उन्होंने सरकार के कदम को दमनकारी कदम बताया है। व्यापारियों ने कहा है कि आमतौर पर सप्ताहांत के दौरान नैनीताल और मसूरी जैसे पर्यटन हिल स्टेशनों में अधिकतम पर्यटक आते हैं। इसलिए सप्ताहांत में ऐसी जगहों पर लॉकडाउन लागू करना अनुचित है। नैनीताल जैसी जगहों पर व्यापारियों को कोरोना के कारण पहले से ही अभूतपूर्व वित्तीय संकट का सामना करना पड़ रहा है और ऐसी परिस्थितियों में, सप्ताहांत पर लॉकडाउन को लागू करना उनकी रोजी रोटी पर भारी रहना तय है।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

Related Posts

Read also x