नवोदय क्रांति परिवार भारत ने मनाया, उत्तराखंड में हरेला महोत्सव

0 0
Read Time:4 Minute, 41 Second
नवोदय क्रांति परिवार भारत, जो कि सरकारी शिक्षकों का बहुत बड़ा समूह,जिसमें भारत के सभी राज्यो के सरकारी विद्यालयों से जुड़े शिक्षक/शिक्षीकाएं शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाते हुए सरकारी शिक्षा की तस्वीर बदलने की मुहिम भारत में चला रहे है। जिसमें नए,नए शिक्षा से जुड़ी तकनीकी, विचार, आइडिया, प्रोग्राम, आनलाइन प्रशिक्षण, शिक्षण तकनीकी, कार्यशालाएं आदि पर मंथन कर रहे हैं।
 
 
इसी के तहत इस परिवार के समूह ने उत्तराखंड में हरेला महोत्सव कार्यक्रम दिनांक 7 जुलाई 2020 से दिनांक 15 जुलाई 2020 तक  पूरे उत्तराखंड प्रदेश में एक साथ चलाया, जिसमें प्रदेश से लगभग 542 शिक्षक, शिक्षिकाओं ने प्रतिभाग किया और हरेला कार्यक्रम को शानदार तरीके से मनाया।
 
 
इस परिवार के फाउंडर और प्रेसिडेंट श्री संदीप ढिल्लन जी, एवं उत्तराखंड से नेशनल मोटीवेटर एवं कार्यक्रम संचालक के रूप में श्रीमती लक्ष्मी नैथानी मैडम ( पौड़ी )के नेतृत्व में उत्तराखंड की एक टीम का गठन किया गया। जिसमें गढ़वाल मंडल से मंडल मोटिवेटर, सुधीर डोबरियाल जी, पौड़ी से, कुमाऊं मंडल से मंडल मोटीवेटर कृपाल सिंह शीला जी,अल्मोड़ा से, के साथ ही साथ पूरे उत्तराखंड प्रदेश से प्रत्येक जिले से जिला मोटीवेटर  चुने गए जिनमें जिला पौड़ी से जिला मोटीवेटर राजीव थपलियाल जी, जिला देहरादून से जिला मोटीवेटर बिपनेश कुकरेती जी, जिला उत्तरकाशी से जिला मोटीवेटर गीतांजलि जोशी जी, जिला रुद्रप्रयाग से जिला मोटीवेटर सतेंद्र भंडारी जी, जिला हरिद्वार से जिला मोटीवेटर अरविन्द कुमार जी, जिला चमोली से जिला मोटीवेटर कुसुम गड़िया जी, जिला टिहरी से जिला मोटीवेटर नंदी बहुगुणा जी, जिला नैनीताल से जिला मोटीवेटर हिमांशु पाण्डेय जी, जिला चंपावत से जिला मोटीवेटर अनुराधा उपाध्याय जी, जिला अल्मोड़ा से जिला मोटीवेटर पवन कुमार जी, जिला उधमसिंह नगर से जिला मोटीवेटर दिनेश बगोटी जी, जिला पिथौरागढ़ से जिला मोटीवेटर राकेश चन्द्र लोहनी जी, जिला बागेश्वर से जिला मोटीवेटर राजेश वार्ष्णेय जी, उत्तराखंड के इन सभी जिलों से जिला मोटिवेटरों द्वारा अपने , अपने जिलों से शिक्षक, शिक्षिकाओं को जोड़ते हुए एक विशाल कीर्ति स्थापित की और बहुत बड़े समूह में नवोदय क्रांति परिवार भारत, ने  “हरेला महोत्सव” के तहत पूरे उत्तराखंड में बहुत बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया, जिसमें प्रत्येक जिले के सभी शिक्षक/शिक्षिकाओं ने स्लोगन/ कविता / सेल्फी- पर्यावरण संबंधित पेड़, पौधे लगाते हुए अपने विद्यालय, घर, मोहल्ले आदि की फोटो प्रेषित की जिसका डाटा नवोदय परिवार के पास सुरक्षित रखा गया।
 
 
उसके बाद 16 जुलाई को सभी को एक लिंक भेजकर  हरेला महोत्सव से संबंधित कुछ ज्ञान वर्धक जानकारी एवं फ़ीड बैक भराई गई। तत्तपश्चात शामिल प्रतिभागियों को नवोदय क्रांति परिवार भारत द्वारा 17 जुलाई को प्रतिभागिता प्रमाण पत्र आनलाइन प्रेषित किये गए। और इसी के साथ हरेला कार्यक्रम का समापन श्री संदीप ढिल्लन जी के द्वारा  किया गया। 

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Read also x