गोविंदपुर में कच्ची शराब बन रही युवाओं की जान की दुश्मन

गोविंदपुर में कच्ची शराब बन रही युवाओं की जान की दुश्मन
0 0
Read Time:2 Minute, 7 Second

सितारगंज। क्षेत्र के गोविंदपुर गांव में कच्ची शराब युवाओं की जान की दुश्मन बन गई है। कोतवाली पुलिस अवैध कारोबार पर अंकुश नहीं लगा पा रही है। इधर बताया जा रहा है कि एक पखवाड़े में दो गांवों के पांच युवाओं की शराब के कारण मौत हो चुकी है। जबकि तीन युवकों का सुशीला तिवारी अस्पताल में इलाज चल रहा है। हालाकि पोस्टमार्टम नहीं होने के कारण शराब से मौतों की पुष्टि स्थानीय प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग की ओर से नहीं कि गई है।
बता दें कि सितारगंज क्षेत्र के कई गांवों में कच्ची शराब का अवैध कारोबार चल रहा है। इस समय क्षेत्र का गोविंदपुर गांव सुर्खियों में है। इस गांव में आधा दर्जन घरों में कच्ची शराब बनती है। सूत्र बताते हैं कि इस गांव में कच्ची शराब पीने से तीन युवाओं ने हाल ही में दम तोड़ दिया। इसी कारण गोविंदपुर में बनी कच्ची शराब पीने से खुनसरा गांव के दो युवकों की मौत भी एक पखवाड़े के भीतर हो चुकी है। सूत्र बताते हैं कि अभी तीन युवकों की कच्ची शराब पीने से तबीयत खराब है। उनका सुशीला तिवारी अस्पताल में इलाज चल रहा है। हालाकि युवकों की शराब पीने से मौत की पुष्टि पोस्टमार्टम नहीं होने के कारण नहीं हो सकी है।
नहीं लग रहा है कच्ची शराब पर अंकुश
सितारगंज। क्षेत्र के बिकने वाली कच्ची शराब पर अंकुश नहीं लग रहा है। हालाकि गांवों में शराब बिक रही है। इसके बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Read also x