Lockdown 4.0 : उत्तरप्रदेश सरकार ने प्रियंका गांधी से 500 बसें गाजियाबाद और 500 बसें नोएडा डीएम को सौंपने को कहा

0 0
Read Time:5 Minute, 20 Second

कोरोना महामारी में जारी लाॅकडाउन में उत्तर प्रदेश में बसों पर सियासत जारी है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी की ओर से देर रात चिट्ठी लिखकर खाली बसों को लखनऊ भेजने के प्रस्ताव पर नाराजगी जताने के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार ने उनसे 500 बसों की मांग नोएडा में की है। साथ ही अन्य 500 बसों को गाजियाबाद में डीएम को देने को कहा है। पीटीआई के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रियंका गांधी से कहा है कि वे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए 12 बजे तक ये बसें मुहैया करा दें। मंगलवार सुबह अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निजी सचिव को भेजे गये पत्र में कहा, ‘आपके पत्र के अनुसार आप लखनऊ में बस देने में असमर्थ हैं एवं नोएडा, गाजियाबाद बार्डर पर ही बस देना चाहते है। अतः ऐसी स्थिति में कृपया जिलाधिकारी गाजियाबाद को 500 बसें 12 बजे तक उपलब्ध कराने का काष्ट करें। जिलाधिकारी गाजियाबाद को तदअनुसार निर्देशित किया गया है।

गाजियाबाद में जिला प्रशासन द्वारा सभी बसों को रिसीव किया जायेगा एवं उनका उपयोग किया जाएगा। कृपया गाजियाबाद के कौशांबी बस अड्डे एवं साहिबाबाद बस अड्डे में बसें उपलब्ध कराने का कष्ट करें। दिलचस्प ये है कि इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रियंका गांधी के 1000 बसों को मुहैया कराने के प्रस्ताव पर देर रात पत्र भेजकर उन्हें सभी बसों को लखनऊ में आज सुबह 10 बजे तक भेजने को कहा था। प्रियंका गांधी के मुताबिक उन्हें इस संबंध में सूचना रात 11.40 में ई-मेल द्वारा अवनीश अवस्थी की ओर से दी गई थी। प्रियंका गांधी ने इसके बाद रात करीब 2 बजे एडिशनल चीफ सेक्रेटरी अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर कहा, हमें ई-मेल के माध्यम से देर रात 11.40 बजे पत्र मिला जिसमें हमसे दस्तावेजों के साथ 1 हजार बसें सरकार को देने को कहा गया है। इसमें बसों को सुबह 10 बजे तक लखनऊ में मौजूद रहने की बात कही गई है।’ प्रियंका ने आगे लिखा, ‘प्रवासी मजदूर यूपी बाॅर्डर पर फंसे हैं। वे भी खासकर दिल्ली-यूपी बाॅर्डर पर । ऐसे वक्त में जब हजारों लोग सड़कों पर चल रहे हैं और यूपी बाॅर्डर पर रजिस्टेªशन के लिए जमा हुए हैं, 1 हजार खाली बसों को लखनऊ रवाना समय और साधन की बर्बादी होगी। ये अमानवीय भी है।’

प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने दरअसल रविवार को दो ट्वीट किए थे और कहा था कि हमारी बसें बाॅर्डर पर खड़ी है, उत्तर प्रदेश सरकार अनुमति दे। प्रियंका गांधी ने पहले ट्वीट में बसों का वीडियो शेयर करते हुए लिखा था, ‘हमारी बसे बाॅर्डर पर खड़ी हैं। हजारों की संख्या में राष्ट्र निर्माता श्रमिक और प्रवासी भाई-बहन धूप में पैदल चल रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अनुमति दीजिएं। हमे अपने भाइयों और बहनों की मदद करने दीजिए।’ वहीं एक टीवी इंटरव्यू में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि वह तीन दिन से कांग्रेस से कह रहे हैं कि वह उन्हें 1 हजार बसों के नंबर और उनक ड्राइवर और कंडक्टर की लिस्ट दे लेकिन कांग्रेस ने नहीं दिया। योगी के बयान पर कांग्रेस का कहना था कि यूपी सरकार ने उनसे कभी कोई लिस्ट नहीं मांगी। बाद में योगी सरकार की ओर से बस मुहैया कराने के संबंध मे मंजूरी देने की भी खबरें आई। इसके बाद सोमवार को प्रियंका गांधी वाड्रा ने श्रमिकों के लिए 1 हजार बसों के संचालन की अनुमति देने पर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद करते हुए कहा था कि कोरोना महामारी के समय उनकी पार्टी राज्य के लोगों के साथ सकारात्मक भाव से खडी रहेगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रियंका के निजी सचिव को पत्र लिखकर बसों के संबंध में विवरण मांगा था।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Read also x