WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

अंतरिक्ष यान ओरियन ने की चंद्रमा की परिक्रमा

अंतरिक्ष यान ओरियन ने की चंद्रमा की परिक्रमा
0 0
Read Time:3 Minute, 1 Second

नासा के ओरियन अंतरिक्ष यान ने मानव रहित आर्टेमिस मिशन के हिस्से के रूप में चंद्रमा की सतह के 130 किलोमीटर के दायरे से गुजरने के लिए अपना पहला मून फ्लाईबाई सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। नासा के अनुसार आर्टेमिस मिशन में अपने छठे दिन ओरियन ने चंद्रमा के चारों ओर एक दूर प्रतिगामी कक्षा में प्रवेश करने के लिए आवश्यक दो सहायक इंजनों का उपयोग करके चौथे कक्षीय प्रक्षेपवक्र को सफलतापूर्वक पूरा किया।
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने बीती देर रात एक बयान में कहा कि ओरियन अंतरिक्ष यान ने 21 नवंबर को चंद्रमा के नजदीक से उड़ान भरी थी।
आर्टेमिस मिशन के मैनेजर माइक सराफिन ने कहा, योजना के मुताबिक मिशन आगे बढ़ रहा है और हमारी संचालन टीम और अंतरिक्ष यान ओरियन अच्छा काम कर रहे हैं।
ओरियन शुक्रवार को चंद्रमा से परे दूर प्रतिगामी कक्षा में प्रवेश करेगा, जिसे दूरस्थ प्रतिगामी कक्षा सम्मिलन बर्न कहा जाता है।
यह कक्षा अत्यधिक स्थिर कक्षा प्रदान करती है, जहां पृथ्वी से दूर चरम वातावरण में ओरियन के सिस्टम को परीक्षण के लिए रखने को गहरे अंतरिक्ष में विस्तारित यात्रा के लिए बहुत कम ईंधन की आवश्यकता होती है।
अपोलो 13 द्वारा निर्धारित रिकॉर्ड को पार करते हुए ओरियन 25 नवंबर को चंद्रमा से अपने सबसे दूर बिंदु लगभग 57,287 मील की यात्रा करेगा।
ओरियन ने पृथ्वी से 216,842 मील की यात्रा की है और चंद्रमा से 13,444 मील की दूरी पर 3,489 मील प्रति घंटे की गति से यात्रा की है।
ओरियन नासा के स्पेस लॉन्च सिस्टम (एएलएस) रॉकेट का पहला एकीकृत उड़ान परीक्षण है।
2025 में नासा ने 1972 में अपोलो 17 मिशन के बाद से पहली क्रू मून लैंडिंग शुरू करने की योजना बनाई है। इसमें चंद्रमा पर चलने वाली पहली महिला और रंग का पहला व्यक्ति शामिल होगा।
आर्टेमिस गहरे अंतरिक्ष में मानव अन्वेषण के लिए एक आधार प्रदान करेगा और चंद्रमा और उससे आगे मानव अस्तित्व का विस्तार करने के लिए नासा की प्रतिबद्धता और क्षमता का प्रदर्शन करेगा।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

admin

Related Posts

Read also x