कोरोना से पीड़ित एक व्यक्ति ने, अस्पताल की चौथी इमारत से लगाई छलांग, हुई मौत

0 0
Read Time:4 Minute, 15 Second

दिल्ली स्तिथ एम्स ट्रॉमा सेंटर में इलाज करा रहे कोरोना संक्रमण से पीड़ित एक व्यक्ति ने बीते सोमवार की दोपहर को अस्पताल की इमारत की चौथी मंजिल से कथित रूप से कूदकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। वहीं अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया की उक्त उक्त मृतक पेशे से पत्रकार था और वह एक हिंदी दैनिक अखबार में कार्यरत था। मृतक पत्रकार की पहचान तरुण सिसोदिया के रूप में की गई है। वह भजनपुरा में अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहता था।

पुलिस उपायुक्त देवेंद्र आर्य का कहना है की यह घटना दोपहर लगभग दो बजे की है, जिसके बाद उस व्यक्ति को अस्पताल के आईसीयू में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों की उसे बचाने की तमाम कोशिशें नाकाम रहीं। बताया कि विगत 24 जून को कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद से पत्रकार को ट्रामा सेंटर के कोविड​​-19 वार्ड में भर्ती किया गया था।

एम्स सूत्र के मुताबिक , “पत्रकार को 24 जून को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था और बाद में ‘हाई डिपेंडेंसी यूनिट’ में भेज दिया गया था.” डॉक्टर ने कहा कि हाल ही में उनकी ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी हुई थी.

इस घटना के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने एम्स निदेशक को इस मामले की आधिकारिक जांच तत्काल शुरू करने के आदेश दिए हैं, जिसके बाद एक उच्च स्तरीय समिति गठित की गई और वह 48 घंटे में रिपोर्ट जमा करेगी.’’ कहा, ‘‘ मैं मीडिया समुदाय के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं जो अपने सहकर्मी की त्रासदीपूर्ण मौत से हिल गया है.’’

वहीं पत्रकार के परिवार के एक सदस्य ने कहा, ‘‘सिसोदिया की मां भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और आरएमएल अस्पताल में भर्ती हैं. हम सभी सदमे में हैं.’’ एम्स ने इस घटना पर एक बयान जारी किया है जिसमें कहा गया कि पत्रकार को एम्स के जयप्रकाश नारायण अपेक्स ट्रॉमा सेंटर में 24 जून को कोविड-19 की वजह से भर्ती कराया गया था. उसकी हालत में सुधार हो रहा था और उसे आईसीयू से सामान्य वार्ड में स्थानांतरित किये जाने की तैयारी थी.

इससे पहले इसी साल मार्च में यहां जी बी पंत अस्पताल में उसके दिमाग के ट्यूमर का ऑपरेशन हुआ था. बयान में कहा गया कि ट्रॉमा सेंटर में इलाज के दौरान उसे मानसिक दौरे आते थे जिस पर न्यूरोलॉजिस्ट और मनोचिकित्सक ने उसे देखा और दवा दी।

अस्पताल ने बयान में कहा, “परिवार के सदस्यों को उसकी हालत के बारे में लगातार जानकारी दी जाती थी. आज करीब एक बजकर 55 मिनट पर वह टीसी-1 से बाहर भागा जहां वह भर्ती था. अस्पताल के कर्मचारी उसके पीछे भागे और उसे रोकने की कोशिश की. वह चौथी मंजिल पर चला गया और वहां उसने एक खिड़की का शीशा तोड़ नीचे छलांग लगा दी.” इसमें कहा गया कि पत्रकार को तत्काल एक एंबुलेंस से ट्रॉमा सेंटर के आईसीयू ले जाया गया. उसे बचाने की कोशिश की गई लेकिन दुर्भाग्य से अपराह्न तीन बजकर 35 मिनट पर उसकी मौत हो गई.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Read also x