WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

भारत-नेपाल बॉर्डर : नेपाली एपीएफ के अस्थाई कैंप में दिखाई दिए चीन निर्मित टेंट, भारतीय जवान सतर्क

0 0
Read Time:3 Minute, 42 Second

नेपाल आर्मी द्वारा भारत – नेपाल बॉर्डर पर अतिरिक्त पोस्ट बनाये जाने की खबर मिली है। यह देखकर आर्मी अफसरों को सतर्क कर दिया गया है। नेपाली सेना के पोस्ट नेपाल की सीमा से 100 गज की दूरी पर बनाये गए है। नेपाल की सीमा में टिहुकी-चेरगाहां, बलुआ, मिर्जापुर, पांडेयपुर, दशावता, विशुनपुरवा। इन स्थानों को आर्मी पोस्ट बनाने के लिए प्रयोग किया गया है। भारत नेपाल सीमा क्षेत्र से सटे इनरवा, बसंतपुर, भेडि़हरवा, देवीगंज, नगरदेही के पास के नेपाली आर्मी कैंपो पर और ज्यादा जवान तैनात किये गए है। नेपाली एपीएफ के अस्थाई कैंप में चीन निर्मित टेंट का प्रयोग किया गया है । भारत के भेडि़हारी गांव के पास नेपाल का टिकुही – चेरगाहां आउट पोस्ट बना है। गाओ वालो ने बताया के इतने वर्षो से नेपाल का यहाँ कोई भी आउटपोस्ट नहीं बनाया गया था। जो अब नए आउटपोस्ट बने है उनके टेंट पर चीनी भाषा में कुछ लिखा हुआ देखा गया है।

एसएसबी 47 वीं बटालियन सिकटा के इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने कहा की नेपाल के भी अस्थाई पोस्ट थे, उन्होंने बारिश के कारण उसी शिफ्ट करने का निर्णय लिया। जब 2015 में नेपाल में भूकंप आया था तब चीन ने मदद के रूप में उन्हें ये टेंट दिए थे। अब नेपाली आर्मी अक्सर इन टेंट का उपयोग बारिश से बचने के लिए करती है। नेपाली आर्मी इन टेंट का उपयोग पहले से करती आई है। प्रियव्रत शर्मा, कमांडेंट, एसएसबी 47 वीं बटालियन का कहना है की खबर मिली है की नेपाली आर्मी और नए पोस्ट बनाये जारी है नेपाल क्षेत्र में। जवानो को बॉर्डर पर चौकन्ने रहने के आदेश मिले है। फ़िलहाल स्थिति सामान्य है। साड़ी गतिविधियों पर हमारी पूरी नजर है। भारत-नेपाल सीमा पर नेपाल सशस्त्र प्रहरी बल (एपीएफ) की फायरिंग के बाद दो थानाध्यक्षों को हटा दिया गया। सोनबरसा के थानाध्यक्ष राकेश रंजन और कन्हौली के राजकुमार गौतम को अपनी पोस्ट से हटाया गया। एसपी अनिल कुमार के अनुसार अब डुमरा थाने के जेएसआइ राकेश कुमार अब सोनबरसा को संभालेंगे और गर थाने के जेएसआइ रामएकबाल प्रसाद अब कन्हौली ठाणे को संभालने की जिम्मेदारी लेंगे।

शनिवार को सीतामढ़ी पहुंचे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एसपी ने बॉर्डर के हालातो के बारे में पुछा और सुरक्षा इंतज़ामों के बारे ज़रूरी सूचना इक्कठा करि। इसके अलावा उन्होंने दोनों थानाध्यक्षों को डिमोशन के साथ विदा लेने के आदेश दिए। एपीएफ की फायरिंग में जिस युवक की मौत हुई अब तक उसकी प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
WhatsApp Image 2022-11-11 at 11.45.24 AM

admin

Related Posts

Read also x