गुजरात में प्रवासी मज़दूरों ने पुलिस पर किया पथराव, 40 लोग हुए गिरफ्तार

0 0
Read Time:2 Minute, 33 Second

गुजरात के दाहोद में फंसे प्रवासीयों ने पुलिस और उनकी गाड़ियों पर पत्थरबाजी की हैं। खबर है कि सैकड़ो मजदूर सड़क पर आ गए और हंगामा करने लगे। गृह मंत्रालय की ओर से आदेश दिया गया है कि जो भी मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे हैं, उन्हें राज्य सरकार की सहमति से वापस भेज दिया जाए। हालांकि पुलिस मजदूरों द्वारा पत्थरबाजी की बात से इनकार कर रही है। दाहोद एसपी ने बताया, कुछ असामाजिक तत्वों ने हमपर पत्थराव किया। हमारी कुछ गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई। लेकिन ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। केस दर्ज किए जा रहे हैं। करीब 40 लोगों को पुलिस ने कस्टडी में लिया है।

गुजरात-एमपी के बाॅर्डर पर टेªन का इंतजार करते मजदूरों की कहानी भी दुखभरी हैं। वह गुजरात में लाॅकडाउन में फंसे थे। जब उनके पास खान-पीना और नकदी खत्म हो गई तो फिर वह वापस अपने यूपी राज्य की ओर चल पड़े लेकिन एमपी बाॅर्डर पर आते ही पुलिस ने इन सभी मजदूरों को रोक दिया और वापस गुजरात जाने का फरमान सुना दिया।

गुजरात से आई यूपी की श्रमिक सोना ने बताया कि हम वडोदरा से आए हैं। हम आजमगढ़(यूपी) जाना चाहते हैं। हम रोज कमा के खाते हैं। अब हमें परेशानी हो रही है तो हम अपने गांव जाना चाहते है। हमारे बच्चे भी साथ में हैं और सास की उम्र ज्यादा हैं। इन मजदूरों की हालात देखने के बाद अफसरों ने अपना अमानवीय चेहरा दिखाया। इसी बाॅर्डर पर गुजरात से आए एमपी के निवासी मजदूरों को उनका आधार कार्ड देखकर आने की अनुमति दी। उनको खाना देकर और मेडिकल जांच के बाद उनके जिलों के लिए तैयार बसों मैं बैठा दिया गया।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Read also x