सचिन पायलट को पार्टी से निकाल बाहर कर सकती है कांग्रेस

0 0
Read Time:4 Minute, 7 Second

सूत्रों के हवाले से मिली ख़बर के मुताबिक, राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट को कांग्रेस से निष्कासित किया जा सकता है, साथ ही उनके समर्थक विधायकों पर भी गाज़ गिरने की पूरी सम्भावना है, इसके आलावा ये भी सुनने में आ रहा है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा हो सकती है, जिसमें रघुवीर मीणा का नाम सामने आ रहा है जो कि अशोक गहलोत के काफ़ी नज़दीकियों में से एक हैं।

लिहाज़ा, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज सुबह 10:30 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई है, वहीँ, सूत्रों की मानें तो डिप्टी सीएम सचिन पायलट कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे, बताया जा रहा है कि सचिन पायलट अभी भी दिल्ली में ही हैं और वो जयपुर नहीं जाएंगे। सचिन पायलट के दिल्ली में मौजूद रहते हुए भी वे कांग्रेस के सर्वोच्च अधिकारियों से मिलने नहीं गए, वहीँ, पायलट ने रविवार को पार्टी से बगावत के संकेत देते हुए दावा किया कि उनके साथ तीस से अधिक विधायक हैं और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है. हालांकि, पायलट के दावे के विपरीत कांग्रेस ने कहा है कि गहलोत सरकार पूरी तरह से सुरक्षित है और अपना कार्यकाल पूरा करेगी।

सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में सियासी खींचतान की असल अध्यक्ष पद को लेकर है, माना जा रहा है कि अशोक गहलोत सचिन पालयट को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाना चाहते हैं ताकि पार्टी की कमान अपने ही किसी क़रीबी को दे सकें, ज़ाहिर है कि अभी तक डिप्टी सीएम सचिन पायलट और सीएम गहलोत के बीच खींचतान लगातार जारी है।

वहीँ जयपुर में बीती रात करीब ढाई बजे तक कांग्रेस को प्रेस वार्ता करनी पड़ी, दिल्ली से क्षति नियंत्रण के लिए कांग्रेस आलाकमान द्वारा अपने तीन वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन और राज्य कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय जयपुर भेजे गए, प्रेस वार्ता के बाद 109 विधायकों के समर्थन पत्र का दावा किया. सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री आज मीडिया के सामने विधायकों की परेड भी करा सकते हैं और जरूरत पड़ी तो राज्यपाल से मुलाकात कर विधायकों की सूची भी उन्हें सौंपेंगे।

राहुल गांधी के दफ्तर ने सचिन पायलट से फोन पर बातचीत का दावा किया है. मामला जल्द सुलझा लेने की उम्मीद जताई. सचिन पायलट समर्थकों ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया की करीब 30 मिनट तक मुलाकात चली. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर सचिन पायलट से हमदर्दी जताई और अशोक गहलोत पर निशाना साधा, सिंधिया ने लिखा कि मेरे पुराने सहयोगी सचिन पायलट को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दरकिनार कर सता रहे हैं. कांग्रेस में प्रतिभा और क्षमता पर भरोसा कम है.

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Read also x