पाकिस्तान का पक्का इलाज करने का वक्त

0 0
Read Time:5 Minute, 24 Second

आज जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में दो आतंकवादियों द्वारा अपरहण कर बंधक बनाये गये परिवारों को आतंकवादियों के चंगुल से आजाद करवाने के लिए चलाये गये अभियान में भारतीय सेना के एक कर्नल रैंक के अधिकारी सहित एक मेजर रैंक का अधिकारी सहित कुल पांच सैन्य कर्मी शहीद हो गये इनमें जम्मू कश्मीर के बहादुर सब इंस्पैक्टर शकील काजी भी शामिल हैं। सूत्रों के हवाले से छन छन कर आ रही खबरों के अनुसार भारतीय सेना ने विगत शनिवार से आतंकवादियों की धर पकड़ के लिए अभियान तेज चला रखा है। विगत तीन महीनो में ही तीस के लगभग आतंकवादियों के भारत की बहादुर सेना ने जहन्नुम के टिकट पक्के कर दिए हैंं। सेना की सख्ती से घबराये हुए इन आतंकवादियों ने अब स्थानीय आम कश्मीरियों को अपनी ढाल बनाना शुरु कर दिया है तथा जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में भी आतंकवादियों ने सेना से अपनी जान बचाने की खातिर हंदवाड़ा में एक परिवार को बंधक बना दिया था। इन परिस्थितियों मे ये कायर आतंकवादी इन बंधको को जान से मारने की धमकी भी दे रहे थे।

सूत्रों के अनुसार सेना ने इन आतंकवादियों को आत्मसमर्पण के लिए कहा साथ ही बंधकों को छोड़ने की भी अपील की लेकिन इसके जवाब में आतंकवादियों ने सेना के ऊपर अंधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी। आतंकियो द्वारा घात लगाकर किए गये इस हमले में भारतीय सेना के कैप्टन रैंक के अधिकारी आशुतोष शर्मा राष्ट्रीय रायफल, मेजर अनुज सूद राष्ट्रीय रायफल, नायक राजेश कुमार राष्ट्रीय रायफल, लांस नायक दिनेश सिंह राष्ट्रीय रायफल तथा जम्मू कश्मीर पुलिस के बहादुर सब इंस्पैक्टर शकील काजी देश के लिए शहीद हो गये। वहीं सेना ने दोनो आतंकवादियों का भी खात्मा कर डाला। भारतीय सेना जम्मू और कश्मीर में आतंकवादियों का सफाया करने मे जुटी हुई है । कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन, लश्कर. ए.तैयब्बा, जैश. ए.मुहम्मद जैंसे आतंकवादी संगठनो की कमर टूट चुकी है। वहीं रक्षा विशेषज्ञों की माने तो अब कश्मीर मे स्थानीय कश्मीरी आतंकवादी गिनती के बचे हुए हैं। लेकिन दूसरी ओर भारत का नापाक पड़ौसी देश पाकिस्तान भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ से बाज नही आ रहा है ।

भारतीय सीमा में अपनी पालतू बार्डर एक्शन टीम के आतंकवादियों जो कि पाकिस्तानी सेना तथा आतंकवादियों की टीम होती है, की घुसपैठ भारतीय सीमाओं में करवाने के लिए कवर फायर करने के लिए भारतीय सीमा क्षेत्रों मे भारी तथा मध्यम दर्जे के हथियारों कि उपयोग कर रहा है बीते दिवस पाकिस्तानी सेना ने बिना उकसावे के आम निर्दोष नागरिकों के साथ ही उनके मवेशियों व भारतीय सेनिकों को निशाना बनाते हुए फायरिंग शुरु कर दी जिसमें भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गये थे । हंदवाड़ा क्षेत्र में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ मे शहीद राष्ट्रीय रायफल के लांस नायक दिनेश सिंह भी उत्तराखण्ड के कुमांऊ क्षेत्र के ही हैं। विगत दो दिनों मे उत्तराखण्ड के तीन वीर जवानों ने देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया है। वहीं एक ओर जहां पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोविड. 19 के प्रसार को रोकने को लेकर संघर्ष कर रही है। वहीं पाकिस्तान की सेना पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आई एस आई तथा पाकिस्तान की कठपुली सरकार इन हालातों मे भी जबकि पाकिस्तान में भी कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार दबे पांव ही सही आहट दे रहा है इन विषम हालातों में भी पाकिस्तान भारत से दुश्मनी निभाने से बाज नही आ रहा है और अब समय आ गया है कि भारत को पाकिस्तान रूपी आतंकवाद के पालक पोषक का स्थाई तथा पक्का इलाज करने की आवश्यक्ता है ।

।।विभू ग्रोवर।।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Read also x